Tuesday, October 21, 2008


When You Let Go
Regret piles up and piles up and it becomes so big---and you blow up. Do you see this happening to you? When you let go, your mind can be in the present moment, more and more and more and more. You are able to smile and laugh from the depth of your heart. Life becomes more light and easy. अफ्सौस जमा होता है और जमा होता है और इतना अधिक हो जाता है---और तुम बिखर जाते हो. क्या तुम देख रहे हो इसे अपने साथ होते हुए? जब तुम छोड़ देते हो, तुम्हारा मन वर्त्तमान मैं आ जाता है, अधिक और अधिक और अधिक और अधिक. तुम अपने दिल की गहरे से मुस्कुराने और हंसने लगते हो. जीवन अधिक हल्का और आसन हो जाता है.

No comments: